राष्ट्रहित सर्वोपरि!!!

कश्मीर में आतंकी बुरहान सुरक्षाबलों के द्वारा मारा गया और जितने राष्ट्रद्रोही लोग भारत में बसे हुए हैं सामने आये ! जो लोग आतंकवादियों का समर्थन कर रहे हैं क्या वो सब भी आतंकी की श्रेणी में नहीं आने चाहिए ? भारत में राष्ट्रविरोधी कार्य करने एवं ऐसे कार्य करने वालों का समर्थन करने वाले स्वयंभू बुद्धिजीवी भी बन जाते हैं और ये वो लोग हैं जो लालची एवं पैसे के लिए दलाली करने वाले मीडियाकर्मियों को आसानी से अपने जाल में फंसा लेते हैं तथा राष्ट्रविरोधी कार्य करके ही प्रसिद्धि पाना चाहते हैं ! किसी कवि ने कहा है कि : बदनाम हुए तो क्या नाम ना होगा ! ऐसे विचार जिसके मष्तिष्क में उत्पन्न हों वो खुला घूमने के योग्य नहीं होता बल्कि कारावास ही उसका उचित स्थान होता है ! अभी कुछ समय पूर्व आतंकी याकूब मेनन को सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा फांसी की सजा सुनाई गई , उसको फांसी न हो उसके लिए सभी स्वयंभू बुद्धिजीवी अपने सभी महतवपूर्ण कार्य छोड़ उसे बचाने निकल पड़े और सर्वोच्च न्यायालय के माननीय न्यायाधीश को रातभर परेशान किया ! ये मात्र उसको निर्दोष साबित करने की ही प्रक्रिया नहीं थी बल्कि हंगामा खड़ा करने वाले लोग बिके हुए थे और जो व्यक्ति अपने राष्ट्र की सुरक्षा को सर्वोपरि न मान पैसे के लिए बिक जाये वह किसी आतंकी से कम दोषी नहीं होता ! इस प्रकार की मानसिकता ने आखिर जन्म क्यों लिया? क्यों राष्ट्र को सर्वोपरि नहीं मानते ऐसे राष्ट्र्कलंक ? जब तक कानून में बदलाव करके ऐसे लोगो जो की राष्ट्र के सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के पश्चात भी आतंकी को ही सही ठहराने की बातें करे उन्हें भी सजा का प्रावधान नहीं होगा तब तक ऐसे राष्ट्रद्रोही मनमानी करते रहेंगे ! हो सकता है कुछ ऐसे ही लोग ऐसे कानून को अनुचित ठहराने तथा मानवाधिकार के विरोध में बताने का प्रयत्न करें परन्तु राष्ट्र हित में कठोर निर्णय सरकार को लेने ही चाहिए ! एक आतंकी के मरने पर जिस प्रकार लोग उसका समर्थन कर रहे हैं दर्शाता है की कांग्रेस की सरकारों ने राष्ट्र को क्या दिया है ! कश्मीरी पंडित जिनका सब कुछ कश्मीरी मुसलमानों के द्वारा छीन लिया गया और फिर से सन १९४७ को दोहराया गया न तो किसी भी स्वयंभू बुद्धिजीवी को दिखाई दिया और न ही कांग्रेस तथा उसके समर्थक दलों को क्योंकि ऐसे स्वार्थी लोगो के लिए अपने निजी स्वार्थ प्रथम होते हैं राष्ट्र नहीं !!! जयहिन्द

#आर्यवर्त

Author: Gautam Kothari (Aaryvrt)

राष्ट्रहित सर्वोपरी जयतु हिन्दुराष्ट्रम वंदे मातरम

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s